Wednesday, May 4, 2016

Shant betha hun ye mat samjhna

शांत बैठा हूँ तो ये मत समझना कि आग नहीँ है मेरे अंदर.!! 
डरता हूँ कहीँ समन्दर कम ना पड़ जाये बुझाने के लिये....!

0 comments:

Post a Comment

Aap Apna Status Comment Kar Sakte Hai...

Pan Card

Popular Posts

Contact Form

Name

Email *

Message *